Acidity ke Gharelu Upay Kya Aap Jante hain? / क्या आप जानते हैं? एसिडिटी के घरेलू उपाय

Acidity ke Gharelu Upay

नमस्कार दोस्तों ! आज हम बात करेंगे Acidity ke Gharelu Upay के बारे में। Acidity को हिंदी में “अम्लता” कहा जाता हैं।

Acidity आजकल एक आम समस्या हैं जो हमारी ख़राब जीवनशैली, गड़बड़ खानपान, और जीवन में तनाव के कारण पैदा होती हैं।

Acidity ke Gharelu Upay
Acidity ke Gharelu Upay.

READ ALSO:-  Acidity In Hindi: A Simple Definition

Acidity ke Gharelu Upay

Acidity का मुख्य कारण हमारे पेट में ज्यादा Acid का बनना होता हैं। जो हमारे पेट से जुडी हुई भोजन नली में पहुँच जाता हैं। जिसके कारण जलन पैदा होती हैं और परेशानी का कारण बनती हैं।

एसिडिटी जब छाती के आसपास के Area में जलन पैदा करती हैं तो इसे Heartburn और Acid Reflux भी कहा जाता हैं। यह एक आम पाचन समस्या हैं जो भोजन के अच्छी प्रकार के ना पचने और अपच (Indigestion) के कारण पैदा होती हैं।

Acidity के कई कारण हो सकते हैं जैसे:-

समय पर भोजन ना करना ।

खाना खाने के बाद एक जगह पर ज्यादा देर तक बैठे रहना।

ज्यादा तली हुई चीजें खाना।

Junkfoods का ज्यादा इस्तेमाल करना।

कम पानी पीना।

मानसिक तनाव।

धूम्रपान या शराब की बुरी लत।

ज्यादा चाय या कॉफी पीना।

कोई बात नहीं ! आजकल की दौड़धूप वाली जिंदगी में कुछ ना कुछ जरूर छूट ही जाता हैं। इंसान चाहते हुए भी सभी चीजों का ध्यान नहीं रख पाता हैं और परेशानियां या बीमारियां उसे घेर लेती हैं।

लेकिन चिंता की कोई बात नहीं हैं। हम आपको यहाँ कुछ ऐसे Acidity ke Gharelu Upay बतायेंगे जिससे आप Acidity और Heartburn से आसानी से छुटकारा पा सकते हैं।

  1. जीरा पानी( Cumin Water):- Acidity ke Gharelu Upay

हमारी रसोई में उपलब्ध जीरा Acidity को दूर करने के लिये बहुत महत्वपूर्ण होता हैं। कयोंकि जीरा एक प्राकृतिक न्यूट्रलाइज़र (Neutralizer) होता हैं और इसलिए अम्लता को कम करने के लिए जीरे को कच्चा चबाया जा सकता है। Acidity को दूर करने के लिये आप जीरे का पानी भी पी सकते हैं।

Acidity ke Gharelu Upay
Acidity ke Gharelu Upay

READ ALSO:-  कमर दर्द के लिए योग- एक प्राकृतिक उपचार

जीरे का पानी बनाना बहुत ही आसान हैं। बस एक चम्मच जीरे को 4 कप पानी में 10 मिनट तक उबालना हैं और  फिर छान लेना हैं और बन गया जीरे का पानी। Acidity और Heartburn  को कम करने के लिए भोजन के बाद जीरे का पानी जरूर पीना चाहिये। जीरे को भुन कर भी आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

जीरा या जीरे के पानी में आवश्यक तेल (Essential Oils)  होते हैं। जो आपकी लार ग्रंथियों (Salivary Glands) को उत्तेजित करते हैं। ये Salivary Glands कुछ Enzymes छोड़ते हैं जो भोजन को पचाने में मदद करते हैं।

जीरे का पानी गैस के कारण होने वाले पेट दर्द में सबसे फायदेमंद घरेलू उपचार हैं।

  1. गिलोय(Giloy):- Acidity ke Gharelu Upay

गिलोय एक प्राकृतिक औषधि है। गिलोय एसिडिटी और Heartburn को कम करने के लिए प्रयोग किया जा सकता है। गिलोय के सेवन से हमें पाचन संबधी समस्याओं से छुटकारा मिल सकता हैं जैसे अपच(Indigestion), कब्ज(Constipation), Acidity, को कम करने में मदद कर सकता है। यह कमजोर पाचन तंत्र वाले लोगों के लिए अच्छा काम करता है।

Acidity ke Gharelu Upay
Acidity ke Gharelu Upay

 

READ ALSO:- विटामिन-बी12 की कमी के लक्षण

आप गिलोय के पत्तों को चबाकर या गिलोय के पाउडर को शहद के साथ मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं। या आधे चमच्च गिलोय के पाउडर को एक गिलास गर्म पानी में मिलाकर दोपहर के और रात के खाने के बाद भी पी सकते हैं।

  1. सौंफ (Fennel):- Acidity ke Gharelu Upay

सौंफ हमें प्रकृति द्वारा दिया गया एक अमुल्य उपहार हैं जो हमारे जीवन का एक प्रमुख हिस्सा हैं।

Acidity ke Gharelu Upay
Acidity ke Gharelu Upay

 

READ ALSO:- क्या आप विटामिन-बी12 के शाकाहारी भारतीय खाद्य पदार्थों के बारे में नहीं जानते?

खाने के बाद सौंफ को चबाना Acidity ke Gharelu Upay का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। सौंफ खाने से हमें अपच, अम्लता और Heartburn में बहुत राहत मिलती हैं। गैस के कारण पेट फूलना, पेट दर्द या उल्टी आने जैसा लगना में भी सौफ बहुत राहत दिला सकती हैं।

अगर आप सौंफ चबा नहीं सकते तो आप सौंफ का पानी भी पी सकते हैं। एक गिलास पानी में एक चम्मच सौंफ को डालकर उबाला जाता हैं। जब यह पानी उबालकर एक कप के बराबर रह जाये तो इसे छानकर पी सकते हैं।

  1. अजवायन (Oregano):- Acidity ke Gharelu Upay

अजवायन हमारी रसोई में प्रयोग होने वाला एक महतवपूर्ण मसाला हैं। अजवायन अपच के कारण होने वाली किसी भी पेट की परेशानी के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। इसका एक महत्वपूर्ण लाभ यह है कि यह आपके पेट को मजबूत रखता है और एसिडिटी और अपच से तुरंत राहत देता है।

अजवाइन में Thymol नाम का एक Enzyme होता हैं। जो हमारे पेट में Gastric Juice के उत्पादन को बढ़ाता हैं। जो हमारे भोजन के पाचन के लिये बहुत जरूरी होता हैं। इस प्रकार अजवायन हमारे पाचन में सुधार करता है।

अजवायन Acidity और Heartburn से राहत दिलाने में बहुत मददगार होता हैं।

इसके लिए अजवायन को पानी में उबाल लें। अम्लता और अपच को कम करने के लिए मिश्रण को छान लें और इसे पियें।

  1. निम्बू पानी (lemonade):- Acidity ke Gharelu Upay

निम्बू का हमारे जीवन में बहुत महत्व हैं। यह हमारे खाने के स्वाद को तो बढ़ाता ही हैं साथ में इसके अंदर कई औषधिए गुण भी पाये जाते हैं।

Acidity ke Gharelu Upay
Acidity ke Gharelu Upay

READ ALSO:- अच्छे स्वास्थ्य के लिए विटामिन डी से भरपूर फल

हालांकि नींबू का रस अम्लीय (Acidic) होता है, परन्तु पानी के साथ मिलने पर इसका प्रभाव  क्षारीय (Basic) हो जाता  है। यह मिश्रण आपके पेट में जाकर  एसिड को Nutralise या बेअसर करने में मदद करता है।

यदि आप इस Acidity ke Gharelu Upay को आजमाने का निर्णय लेते हैं, तो आपको एक गिलास पानी में एक बड़ा चम्मच ताजा नींबू का रस मिलाकर पीना चाहिए।

उन लोगों को जिनको पहले से पेट में Ulcer या liver पर Ulcer की दिक्कत हैं। उन्हें नींबू का सेवन नहीं करना चाहिये क्योंकि ये अपने Acidic Nature के कारण उनकी परेशानी को और बढ़ा सकता हैं।

नींबू पानी पीने का एक और बहुत अच्छा फायदा हैं। क्योंकि नींबू पानी में विटामिन सी होता है, जो एक एंटीऑक्सीडेंट(Antioxident) है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान (NIH) के अनुसार, विटामिन सी हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने में मदद करता है, जो शरीर को संक्रमण (Infections) से लड़ने में मदद करता है।

  1. ठंडा दूध (Cold Milk):- Acidity Ke Gharelu Upay

ठंडा दूध हमेशा से Acidity Ke Gharelu Upay और एक पारंपरिक उपाय भी रहा है। दूध को क्षारीय (basic) प्रकृति का माना जाता हैं जो  पेट में अतिरिक्त एसिड को Nutralise या बेअसर करने में मदद करता है और एसिडिटी या Heartburn से जुड़ी परेशानीयों  से राहत दिला सकता है।

दूध में कैल्शियम(Calcium) बहुत उच्च मात्रा में होता है, जो हमारे पेट में अतिरिक्त एसिड को अवशोषित करके एसिड के निर्माण को रोकने में मदद करता है। साथ ही अगर दूध ठंडा है तो रिफ्लक्स के दौरान होने वाली जलन से तुरंत राहत देता है। इसके लिये दूध हमेशा फीका ही पीना चाहिये या चीनी नहीं डालनी चाहिये।

  1. नारियल पानी (Coconut Water):- Acidity ke Gharelu Upay

नारियल का पानी Acidity और Heartburn में बहुत राहत दिला सकता हैं। नारियल पानी में पोटेशियम (Potassium) जैसे उपयोगी इलेक्ट्रोलाइट्स (Electrolytes) होते है। जो शरीर के भीतर पीएच संतुलन(PH Balance) बनाये रखते है, जो Acidity को कम करने के लिए महत्वपूर्ण है।

 

नारियल पानी भोजन से पहले और बाद में पी सकते है : भोजन से पहले एक गिलास नारियल पानी पीने से Acidity में राहत मिल सकती हैं , विशेष रूप से सुबह-सुबह नारियल पानी पीने से पेट लंबे समय तक भरा हुआ महसूस करता हैं। और बाद में लंबे समय तक खाने की आदत को रोकने में मदद मिलती हैं । नारियल पानी में Calories कम होती हैं जिसके कारण यह आसानी से पच जाता हैं।

  1. लस्सी या छाछ पीयें :- Acidity Ke Gharelu Upay

भारत गावों का देश हैं दूध, दही और लस्सी यहाँ के भोजन का प्रमुख हिस्सा होता हैं। लस्सी हमारे शरीर के लिये बहुत लाभदायक होती हैं ख़ासकर Acidity और Heartburn में।

छाछ पीना Acidity Ke Gharelu Upay में से एक हैं। छाछ में मौजूद Lactic Acid हमारे पेट में मौजूद HCL को Neutralise करने का काम करता हैं। जिसके कारण हमें Acidity से राहत मिलती हैं। अगर लस्सी के अंदर आप भूना हुआ जीरा पीसकर मिलाते हैं और पीते हैं। तो यह और भी असरदार साबित होता हैं।

Acidity को कम करने के लिए अतिरिक्त उपाय- Acidity ke Gharelu Upay

Acidity बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों को कम करें:-

यदि शरीर में Acidity ज्यादा बनती हैं। तो आपको उन खाद्य पदार्थों से बचना चाहिये जो Acid बनाते हैं, जैसे कि मसालेदार भोजन, तले हुए खाद्य पदार्थ, साइट्रस-आधारित (Citrus Fruits) खाद्य पदार्थ, पुदीना और कुछ प्रकार की चॉकलेट।

वजन कम करना (Loose Weight):-Acidity ke Gharelu Upay

जो लोग मोटे होते हैं उन्हें एसिडिटी की समस्या ज्यादा होती है। इसलिये व्यायाम करके अपने वज़न को कम करने की कोशिश करनी चाहिये ।

भूख को Control करें और , कम कैलोरी वाला भोजन करें, भोजन को टुकड़ो में करें और सही समय पर खाएं। चीनी और चिकनी या भोजन में घी का इस्तेमाल कम से कम करें।

लो कार्ब डाइट पर जाएं (Low Carb Foods):-Acidity ke Gharelu Upay

ज्यादा कैलोरी वाले  और ज्यादा Carbohydrate वाले भोजन से बचना चाहिए। ऐसे आहार खाने से शरीर में हाइड्रोक्लोरिक एसिड (HCL) ज्यादा बनने लगता हैं और Acidity या Heartburn की समस्या बढ़ने लगती हैं।

Heartburn या Acidity को ठीक करने के लिए, खाने के बाद कम से कम दो घंटे तक लेटने से बचना चाहिये । वसा (Fat) , चॉकलेट और साइट्रस खाद्य (Citrus Foods) या खट्टे पदार्थों से दूर रहने से भी मदद मिल सकती है।

एंटासिड (Antacids) दवाएं Heartburn के लक्षणों को तुरंत कम कर सकती हैं। ओमेप्राज़ोल (Omeprazole), रेनिटिडिन (Renitidine), Esmoperazole, Famotidine, आदि कई ऐसी दवाएँ आती हैं जो Acidity को कम करके Heartburn से राहत दिला सकती हैं।

ऊपर बताये गए दवाएं या कोई भी Medicine केवल डॉक्टर की सलाह से ही लेनी चाहिये ऊपर बताय गये Salts सिर्फ Knowledge ya उदाहरण के लिये बताय गये हैं

अगर आपको कोई भी लक्षण जैसे सीने में दर्द के साथ पसीना आना, सांस फूलना या बांह या जबड़े में दर्द होना जैसे Heartburn के भी लक्षण हो सकते हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिये

 

डॉक्टर से मिलने के लिए अपॉइंटमेंट लें यदि आप:-

सप्ताह में दो या अधिक बार Heartburn का अनुभव करें

Acid Reflux के लक्षण देखें जो नींद में बाधा डालते हैं

कोई नई खांसी हो गई हो

निगलने में कठिनाई, या उल्टी आने को होना

अगर घरेलू उपचार से कोई सुधार  ना हो

FREQUENTLY ASKED QUESTIONS:-

Q. ACIDITY को जल्दी कैसे कम कर सकते हैं ?

A. ठंडा दूध पी सकते हैं

नारियल पानी पी सकते हैं

छाछ या लस्सी पी सकते हैं

या कोई भी ANTACID ले सकते है

Q. डॉक्टर की सलाह के बिना कौन सा ANTACID ले सकते हैं? जो बाज़ार में आसानी से उपलब्ध हो

A. आजकल बाज़ार में कई OTC (Over the Counter) product या ANTACID उपलब्ध है जिनका इस्तेमाल एक आम आदमी आसानी से कर सकता हैं

ENO या GAS O FAST ये दोनों ही बहुत असरकारक ANTACID हैं जो आप ACIDITY, HEARTBURN या सीने में जलन के लक्षणों से राहत के लिये प्रयोग कर सकते हैं

इन दोनों ही ANTACIDS को खली पेट नहीं लेना चाहिये। इनकी दो DOSES के बीच में कम से कम 2 से 3 घंटे का अंतर जरूर होना चाहिये।

Q.क्या एसिडिटी में दही खा सकते हैं?

A. जी हाँ ! दही ACIDITY को CONTROL करने का एक आजमाया हुआ तरीका है एसिडिटी को नियंत्रित करने में दही की एक बहुत बड़ी भूमिका है। यह दूध और छाछ की तरह ही एक प्राकृतिक एंटासिड(ANTACID) होता है।

  1. ENO या GAS O FAST का इस्तेमाल किसे नहीं करना चाहिए?
  2. ENO या GAS O FAST का इस्तेमाल सिर्फ व्यस्क और बुजुर्ग लोग ही कर सकते हैं। 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए ये ANTACID उपयुक्त नहीं है।

बच्चों को कोई भी MEDICINE सिर्फ डॉक्टर ही सलाह से ही दी जा सकती हैं

Q. ACID REFLUX के लिए सबसे खराब खाद्य पदार्थ कौन से हैं?

A. GERD को ट्रिगर करने के लिए सबसे ख़राब खाद्य पदार्थ

अल्कोहल(ALCOHOL) ।

कैफीन(CAFFINE) ।

कार्बोनेटेड शीतल पेय (COLD DRINKS) ।

लाल मिर्च पाउडर और काली मिर्च

चॉकलेट(CHOCOLATE) ।

खट्टे फल, जैसे अंगूर, नींबू और संतरा ।

Q. आपको ENO से कब बचना चाहिए?

A. यदि आपको निम्न में से कोई भी परेशानी हो तो ENO® पाउडर नहीं लेना चाहिये :

जिगर (LIVER) , दिल (HEART) , या गुर्दे (KIDNEY) से जुड़ी कोई भी समस्या ।

उच्च रक्तचाप (HIGH BLOOD PRESSURE)

ENO के किसी भी घटक (INGREDIENT) से एलर्जी।

अगर आप LOW SODIUM DIET पर हैं। तो भी आपको ENO लेने  से बचना

चाहिये

Q. ACIDITY से निपटने के लिए फल कौन से हैं?

A. खरबूजे और तरबूज कम एसिड वाले फल हैं जो एसिड रिफ्लक्स(ACID REFLUX)

के लिए सबसे अच्छे फल हैं।

धन्यवाद

यह आर्टीकल आपको कैसा लगा? हमें जरूर बतायेगा, हमें आपके विचारों तथा सुझावों का इंतजार रहेगा। आप हमें सुझाव COMMENT BOX के जरिये भेज सकते हैं।

DISCLAMIER: – HEALTHSWIKI.COM केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए सामान्य जानकारी प्रदान करता है। इस वेबसाइट का उद्देश आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और स्वास्थ्य से जुडी जानकारी मुहैया कराना हैं। HEALTHSWIKI.COM साइट में दी गई जानकारी, या अन्य साइटों के लिंक के माध्यम से प्राप्त जानकारी, चिकित्सा या पेशेवर देखभाल के लिए एक विकल्प नहीं है। यदि आपको लगता है कि आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है तो आपको तुरंत अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

Visited 1 times, 1 visit(s) today

3 thoughts on “Acidity ke Gharelu Upay Kya Aap Jante hain? / क्या आप जानते हैं? एसिडिटी के घरेलू उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com