OBESITY IN HINDI / मोटापा- कारण और लक्षण

नमस्कार दोस्तों! आज हम बात करेंगे OBESITY IN HINDI के बारे में।  मोटापा आजकल एक भयंकर बीमारी का रूप लेता जा रहा हैं। मोटापा पूरी दुनिया में महामारी का रूप ले रही हैं।  हमारी बिगड़ती जीवनशैली के कारण बच्चे भी मोटापे का शिकार हो रहे हैं।

Obesity in Hindi
Obesity in Hindi

और पढ़े:- INDIAN HOME REMEDIES FOR GOOD SLEEP

OBESITY IN HINDI

मोटापे के कारण हमारे शरीर में कई तरह के रोग घर करने लगते हैं। और जब ये रोग बढ़ने लगते हैं, तो हम WEIGHT LOSS के तरीके ढूंढने लगते हैं। कई बार सही और सटीक जानकारी के आभाव में WEIGHT LOSS नहीं हो पाता हैं।

पहले तो हमें यह समझना होगा

मोटापा(OBESITY ) हैं क्या? OBESITY IN HINDI

 मोटापा एक चिकित्सीय स्थिति है, जिसमें किसी व्यक्ति के शरीर का वजन उसकी शारीरिक बनावट के हिसाब से सामान्य से अधिक हो जाता हैं तो इसे मोटापा कहते हैं। जिसमें शरीर की अतिरिक्त चर्बी इस हद तक जमा हो जाती है कि इसका स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

वैज्ञानिक तौर पर लोगों को  मोटापे से ग्रस्त माना जाता है जब उनका बॉडी मास इंडेक्स (BMI ) 30 kg/m2 से अधिक हो जाता हैं इसलिए 25-30kg/m2 के स्तर को OVERWEIGHT माना गया हैं। हम  BMI से अपने वजन की जांच कर सकते हैं।

BMI = kg/m2    kg=weight & m2   height in meters

BMI (kg/m2) CLASSIFICATION
FromUp to
 18.5Underweight (कम वजन)
18.525.0normal weight(सामान्य वज़न)
25.030.0Overweight (अधिक वजन)
30.035.0class I obesity(कक्षा I मोटापा)
35.040.0class II obesity(द्वितीय श्रेणी का मोटापा)
40.0 class III obesity(तृतीय श्रेणी का मोटापा)
 

और पढ़े:- लकवा रोगी के लिए भोजन

ऊपर दिये गए BMI CHART की मदद से हम अपने शरीर के सही वजन को जान सकते हैं। हम किस श्रेणी में आते हैं ये भी जान सकते हैं।

WHO के अनुसार अधिक वजन और मोटापा जब होता हैं जब शरीर में अत्यधिक वसा(FAT)जमा हो जाता हैं जो स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होता हैं । 25 से अधिक बॉडी मास इंडेक्स (BMI) को अधिक वजन माना जाता है, और 30 से अधिक मोटापे से ग्रस्त है। बीमारी के वैश्विक बोझ के अनुसार 2017 में अधिक वजन या मोटापे के कारण हर साल 4 मिलियन से अधिक लोगों की मौत होती हैं जो एक महामारी का रूप ले रहा है।

आजकल की जीवनशैली, खान-पान तथा तनावपूर्ण माहौल OBESITY के प्रमुख कारण हैं। खानपान को लेकर लापरवाही वजन बढ़ने का एक प्रमुख कारण हैं। मोटापा इन दिनों एक आम समस्या बनती जा रही हैं। यह एक भयंकर बीमारी हैं जो हमारे सवास्थ्य पर बहुत बुरा असर डालती हैं।

मोटापे के कारण आपको कई गंभीर बीमारियां भी हो सकती हैं। मोटापा आपके स्वास्थ्य के लिये बेहद हानिकारक हैं।

मोटापे के लक्षण:- OBESITY IN HINDI

आपके शरीर के वज़न का सामान्य से अधिक बढ़ना मोटापे का लक्षण हो सकता हैं। इसके कई गंभीर परिणाम भी हो सकते हैं।

दिनचर्या के कामों को करने में साँस फूलना।

थोड़ा सा चलने पर पसीना आ जाना ।

आवश्यकता से कम या ज्यादा सोना ।

थोड़ा सा चलने पर साँस लेने में कठनाई होना या साँस का रूकना ।

शरीर के विभिन्न अंगो में वसा जमने के कारण सूजन आ जाना ।

शरीर के जोड़ो में दर्द होना भी मोटापे का लक्षण हो सकता हैं ।

हाई ब्लड प्रेशर( HIGH B.P )

मधुमेह (DIABETES)

थकान ( FATIGUE)

और पढ़े:- रात में अच्छी नींद का आनंद कैसे लें

मोटापे के कारण :- OBESITY IN HINDI

मोटापे का सबसे अहम् कारण हैं, हमारे दवारा भोजन से प्राप्त ऊर्जा का संतुलन ना कार पाना। हम भोजन से  ऊर्जा प्राप्त करते हैं परन्तु उस ऊर्जा का पूरा उपयोग नहीं कर पाते बची हुई ऊर्जा हमारे शरीर में इकठ्ठी होती रहती हैं जो मोटापे का कारण बनती हैं ।

इसके आलावा मोटापे के और भी कई कारण हो सकते हैं आइये उनके बारे में जानते हैं।

जेनेटिक्स -OBESITY IN HINDI

मोटापा या वज़न बढ़ने में BIOLOGICAL FACTORS का भी प्रमुख कारण हो सकता हैं। मोटे माता-पिता के बच्चे भी मोटे हो सकते हैं। BIOLOGICAL FACTORS हमारे शरीर को प्रभावित करते हैं। हमारा शरीर भोजन को ऊर्जा में कैसे बदलता हैं और वसा को कैसे STORE करता हैं।

पर्याप्त नींद नहीं लेना -OBESITY IN HINDI

पूरी नींद न लेना भी मोटापे का कारण हो सकता हैं। नींद ना लेने से हमारे शरीर में HORMONAL CHANGES होते हैं। जो भूख बढ़ने का कारण हो सकते हैं।

व्यायाम ना करना -OBESITY IN HINDI

EXERCISE ना करना भी मोटापे का कारण हो सकता हैं। भोजन से प्राप्त CALORIS को व्यायाम करके ही उपयोग कर सकते हैं। व्यायाम या शारीरिक श्रम ना करना OBESITY का कारण हो सकता हैं।

मानसिक तनाव-OBESITY IN HINDI

मानसिक तनाव के कारण हमारे शरीर के हॉर्मोन में बदलाव होते हैं। जिसके कारण भूख ज्यादा लगने लगती हैं। ज्यादा खाने के कारण हमारे शरीर में ऊर्जा का संतुलन नहीं हो पाता हैं। जिसके कारण मोटापा बढ़ने लगता हैं।

दवाईंया-OBESITY IN HINDI

कई बिमारियों की दवाइयों के कारण भी हमारे शरीर का वज़न बढ़ सकता हैं। जैसे ANTIPSYCOTIC MEDICINES, ANTIDIPERSENTS, STEROIDS

मीठे का बहुत ज्यादा सेवन करने से भी मोटापा बढ़ने का खतरा रहता है |

लोगों मे दिन मे खाना खाने के बाद सोने की आदत भी मोटापे का कारण बन सकती है।

कुछ शारीरिक समस्याओं के कारण भी हमारे शरीर का वज़न बढ़ सकता हैं।

 Prader–Willi syndrome-OBESITY IN HINDI

यह एक जन्मजात बीमारी होती हैं। जिसमें मरीज को अत्यधिक भूख लगती हैं। इसमें शारीरिक विकास बहुत ही धीमी गति से होता हैं जिससे मोटापा बढ़ता हैं।

CUSHING SYNDROM-OBESITY IN HINDI

इस बीमारी से ग्रस्त मरीज में वज़न बढ़ने की संभावना अधिक होती हैं। यह शरीर में CORTISOL हॉर्मोन के बढ़ने के कारण होता हैं। CORTISOL एक तनाव हॉर्मोन हैं।

घुटनों की समस्या-OBESITY IN HINDI

घुटनों का दर्द भी मोटापे को बढाने में सहायक होता हैं। घुटनों में दर्द की वजह से व्यक्ति चलने फिरने में सहज महसूस नहीं करता हैं। वह एक ही जगह पर देर तक बैठा रहता हैं। जिससे उसका वज़न बढ़ता जाता हैं। 

हाइपोथाइरॉयडिज़्म (Hypothyroidism):- OBESITY IN HINDI

यह आर्टीकल आपको कैसा लगा? हमें जरूर बतायेगा। हमें आपके विचारों तथा सुझवों का इंतजार रहेगा। आप हमें सुझाव COMMENT BOX के जरिये भेज सकते हैं। 

धन्यवाद

DISCLAMIER:- HEALTHSWIKI.COM केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए सामान्य जानकारी प्रदान करता है। इस वेबसाइट का उद्देश आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और स्वास्थ्य से जुडी जानकारी मुहैया कराना हैं। HEALTHSWIKI.COM साइट में दी गई जानकारी, या अन्य साइटों के लिंक के माध्यम से प्राप्त जानकारी, चिकित्सा या पेशेवर देखभाल के लिए एक विकल्प नहीं है। यदि आपको लगता है कि आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है तो आपको तुरंत अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

Visited 1 times, 1 visit(s) today

2 thoughts on “OBESITY IN HINDI / मोटापा- कारण और लक्षण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com