Vitamin-B12 ki kami ke laksan / विटामिन-बी12 की कमी के लक्षण

Vitamin B12 ki kami ke laksan

नमस्कार दोस्तों! आज हम बात करेंगे Vitamin B12 ki kami ke lakshan के बारे में। जिनसे हम पता लगा सकते हैं की कहीं हमें Vitamin B12 की कमी तो नहीं ।

सबसे पहले हमें ये पता होना चाहिये की विटामिन-बी12 क्या हैं? हमारे शरीर में विटामिन-बी12 का क्या काम होता हैं ? विटामिन-बी12 के लिये हमें क्या क्या खाना चाहिये?

Vitamin-B12 ki kami ke laksan

 

Vitamin-B12 ki kami ke laksan / विटामिन-बी12 की कमी के लक्षण
Vitamin-B12 ki kami ke laksan / विटामिन-बी12 की कमी के लक्षण

विटामिन-बी12 (Vitamin-B12) क्या है?

Vitamin B 12 को साइंटिफिक भाषा में Cynocobalamin कहते हैं जो एक Water Soluble विटामिन हैं। विटामीन B 12 हमें सिर्फ खादय पदार्थो से प्राप्त होता हैं, कयोंकि हमारा शरीर खुद इसको नही बना पाता हैं। Generally लोग Vitamin B12 और B-Complex में Confuse हो जाते हैं।

B-Complex में B group के सारे विटामिन्स आते हैं, जबकि Vitamin B12 में सिर्फ Cynocobalamin ही आता हैं

विटामिन बी12 और फोलेट दो विटामिन हैं, जो विटामिन बी कॉम्प्लेक्स(B-complex) का एक हिस्सा बनाते हैं। विटामिन बी12 और फोलेट आपके शरीर में नए प्रोटीन बनाने के लिए विटामिन सी(Vitamin-C) के साथ मिलकर काम करते हैं। ये सामान्य लाल खून कोशिकाओं(Red Blood Cells) और श्वेत खून कोशिकाओं(White Blood Cells), ऊतक(Tissue) और कोशिका(cells) मरम्मत और डीएनए के गठन के लिए आवश्यक हैं।

विटामिन बी12 के अभाव में आपकी लाल खून कोशिकाएं (Red Blood Cells) सामान्य रूप से काम करना बंद कर देती हैं और आप एनीमिया (Anemia) से पीड़ित हो जाते हैं। तंत्रिका कोशिकाएं(Nerve Cells) भी असामान्य रूप से काम करती हैं, जिसके परिणामस्वरूप तंत्रिका तंत्र(Nervous System) से संबंधित लक्षण जैसे झुनझुनी, सुन्नता, भ्रम और हाथों में पैरों में दर्द  आदि  हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें :- अच्छे स्वास्थ्य के लिए विटामिन डी (Vitamin-D) से भरपूर फल

विटामिन बी 12 का क्या काम होता हैं?

हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं(Red Blood Cells) और डीएनए (DNA) के निर्माण में विटामिन बी12 का महत्वपूर्ण Role होता हैं। विटामिन बी12 हमारे शरीर के Central Nervous System और हमारे दिमाग के स्वास्थय के लिये बहुत महतवपूर्ण हैं।

विटामिन बी 12 हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल(Cholestrol) के level को भी Control में रखता हैं। जिससे हर्दय संबंधी परेशानियों से दूर रहने में मदद मिलती हैं। विटामिन बी12 हमारी त्वचा,बालों और नाखूनों को सवस्थ बनाये रखता हैं। यह हमारे शरीर को ऊर्जा भी प्रदान करता हैं।

 

भोजन हम स्वस्थ और सामान्य रहने के लिये खाते हैं, उसमें वे सभी संभावित पोषक तत्व होते हैं जो  हमें स्वस्थ जीवन जीने  के लिए आवश्यक होते  है। फिर भी, हम कितना ही अच्छा खा ले या कितना भी ध्यान रख ले परंतु शरीर में सभी प्रकार के विटामिन्स की कमी को पूरा रखना बहुत ही जटिल कार्य हैं। जिससे शरीर में प्रत्येक पोषक तत्व का सही संतुलन बनाए रखना संभव नहीं हो पाता है।

हमेशा कोई न कोई कमी रह ही जाती है। और इन कमियों को दूर करने के लिए हमें उन पोषक तत्वों को अन्य खाद्य पदार्थो से लेना पड़ता हैं । इन्हें Supplements (पूरक) कहा जाता है।

किसी भी प्रकार के सप्लीमेंट का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए। कुछ पोषक तत्वों की कमी पर पूरी तरह से ध्यान नहीं दिया जा सकता है और उनकी कमी के गंभीर परिणाम हो सकते हैं।

जैसा कि हम जानते हैं कि विटामिन बी12 हमारी तंत्रिका कोशिकाओं को स्वस्थ रखता है। यह लाल रक्त कोशिकाओं को अच्छे आकार और उनकी पर्याप्त संख्या बनाए रखने में मदद करता है। Vitamin B-12 हमें दिल की बीमारियों और स्ट्रोक से भी बचाता है। और हमारे शरीर में डीएनए के प्रसंस्करण में मदद करता है।

किसी भी Vitamin की कमी से शरीर में कोई भी खराबी हो सकती है। लाल रक्त कोशिकाओं की कम संख्या एनीमिया का कारण बनती है। Anemia के कारण  व्यक्ति को सांस फूलने (शरीर को कम ऑक्सीजन की आपूर्ति के कारण) लगती है। चक्कर आना, थकान और कम ऊर्जा विटामिन बी12 की कमी के बुनियादी लक्षण हैं। कमी गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट को भी प्रभावित करती है और यह भी काम कर रही है। इससे मतली, उल्टी, गैस, कब्ज या दस्त भी हो सकता है। इन सभी से भूख और वजन कम होता है।

चूंकि विटामिन बी 12 तंत्रिका कोशिकाओं को स्वस्थ रखता है, इसलिए इसकी कमी इन तंत्रिका कोशिकाओं के स्वास्थ्य और कामकाज को प्रभावित करती है। यदि इसका समय पर निदान और इलाज़ नहीं किया जाता है, तो यह तंत्रिका कोशिकाओं को स्थायी नुकसान पहुंचा सकता है।Vitamin B कमी के लक्षणों में हाथों और पैरों में सुन्नता(Numbness in hands and feet), संतुलन में असमर्थता(Imbalance), चलने में कठिनाई(Difficulty walking), असामान्य अवसाद(Atypical depression) और स्मृति हानि(Memory loss) भी शामिल हो सकते हैं।

Vitamin B12की कमी के लक्षण (Vitamin B12 ki kami ke lakshan) कई बार त्वचा में भी दिखाई देते हैं । त्वचा और आँखों का पीला होना, होठों का रूखापन और इसी तरह के अन्य लक्षण, ये सभी रक्त में Vitamin-B12की कमी के लक्षण (Vitamin B12 ki kami ke lakshan) होते हैं।

सरल शब्दों में हम कह सकते हैं कि रक्त शरीर के सभी भागों में भोजन और ऑक्सीजन का वाहक है। यदि रक्त प्रभावित होता है (कम लाल रक्त कोशिकाएं ) तो यह पूरे शरीर और सभी अंगों के कार्यों को प्रभावित करता है।

Vitamin B12 की कमी जितनी गंभीर होगी, Vitamin B12 कमी के लक्षण और परिणाम उतने ही गंभीर होंगे।

यह आवश्यक है कि विटामिन बी12 की कमी के लक्षणों (Vitamin B12 ki kami ke lakshan) की शुरूआती चरण में ही पहचान कर ली जाए ताकि इसे नियंत्रित किया जा सके और इसके पूरक आहारों का सेवन किया जा सके ।

अब हम कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में जानेंगे जिससे पता चल जायेगा की हमे या हमारे आस पास के लोगों में Vitamin B12 की कमी तो नहीं

1.कमज़ोरी:– Vitamin B12 ki kami ke lakshan

Vitmain B12 की कमी का प्रमुख लक्षण शारीरिक कमज़ोरी(Weakness) भी हो सकता हैं, कयोंकि विटामिन बी12 की कमी के कारण हमारे रक्त में मौजूद लाल रक्त कोशिकाओं की शंख्या काफी कम हो जाती हैं।

लाल रक्त कोशिकायें हमारे शरीर के सभी अंगो तक ऑक्सीजन पहुँचाने का कार्य करती हैं। जिससे हमारे शरीर के सभी अंग अपनी पूरी क्षमता से कार्य कर पाते हैं। इनकी कमी के कारण हमारे शरीर के सभी भागों तक ऑक्सीजन सही ढंग से नहीं पहुँच पाती हैं और हमारे शरीर में ऊर्जा का स्तर काफी कम रह जाता हैं। जिससे हम कमज़ोरी महसूस करते हैं।

कमजोरी की वजह से शरीर सारा दिन थका थका सा रहता हैं। किसी भी काम को करने का मन नहीं करता हैं।

  1. हाथ और पैरों की झुनझुनी या सुन्नता (Numbness in hands and feet):- Vitamin B12 ki kami ke lakshan

Vitamin B12 की कमी के लक्षणों में हाथों और पैरो में सुन्नता का होना भी हो सकता हैं।

चूंकि विटामिन बी 12 तंत्रिका कोशिकाओं (Nerve Cells) के स्वस्थ कामकाज में मदद करता है, इसलिए Vitamin B 12 की कमी इन तंत्रिका कोशिकाओं के स्वास्थ्य और कामकाज को प्रभावित करती है। यदि इसका समय पर निदान और उपचार नहीं किया जाता है, तो यह तंत्रिका कोशिकाओं को स्थायी नुकसान पहुंचा सकता है। जिसके कारण  हाथ और पैरों में सुन्नता या झुनझुनी पैदा होने लगती हैं जो समय के साथ साथ बढ़ने लगती हैं , संतुलन में असमर्थता, चलने में कठिनाई, असामान्य अवसाद और स्मृति हानि भी शामिल हो सकते हैं।

  1. त्वचा (Skin) का पीला पड़ना:- Vitamin B12 ki kami ke lakshan

त्वचा का पीला पड़ना भी Vitamin B 12 की कमी का एक लक्षण हो सकता हैं कयोंकि विटामिन B12 की कमी के कारण हमारे रक्त में Red Blood Cells की कमी हो जाती हैं। जिसके कारण हमारे शरीर के सभी अंगो तक ऑक्सीजन पूरी मात्रा में नहीं पहुँच पाती हैं।

इसलिये ऑक्सीजन की कमी के कारण हमारी त्वचा का रंग भी धीरे धीरे पीला पडने लग जाता हैं।

  1. याददाश्त कमजोर होना:- Vitamin B12 ki kami ke lakshan

याददाश्त कमजोर होना भी विटामिन B12 की कमी का लक्षण हो सकता हैं। क्योंकि इसकी कमी के कारण ऑक्सीजन हमारे मस्तिष्क तक पूरी मात्रा में नहीं पहुँच पाती हैं।जिसके कारण मस्तिष्क अपनी पूरी क्षमता से अपना काम नहीं करता हैं और इसका सीधा असर हमारी याददाश्त पर पड़ता हैं। और यह कमजोर होने लगती हैं।

अगर आरंभ में ही इस लक्षण को नहीं पहचान पाते हैं तो यह आगे चलकर एक भयंकर बीमारी का रूप ले सकता हैं।

  1. जीभ में झुनझुनी:- Vitamin B12 ki kami ke lakshan

VItamin B12 की कमी का एक लक्षण जीभ में झुनझुनी होना भी हो सकता हैं। अगर आपको जीभ में खुजली या झुनझुनी महसूस हो रही है, तो यह एक अच्छा संकेत है कि आपको विटामिन बी 12 की बहुत जरूरत है।

कयोंकि हमारी जीभ का लाल रंग Red Blood Cells की वजह से होता हैं। जिनकी कमी के कारण हमारी जीभ का रंग सफ़ेद होने लगता हैं साथ ही इसमें खुजली या झुनझुनी होने लगती हैं। ये साफ़ संकेत होता हैं की हमें Vitamin B12 की सख्त जरूरत हैं।

यह भी पढ़ें :- क्या आप जानते हैं? विटामिन डी (VITAMIN-D) की कमी के 10 लक्षण

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (Frequently Asked Question)

 

  1. विटामिन बी 12 क्या है?

Vitamin B 12 को साइंटिफिक भाषा में Cynocobalamin कहते हैं। जो एक water soluble विटामिन हैं। विटामीन B12 हमें सिर्फ खादय पदार्थो से प्राप्त होता हैं कयोंकि हमारा शरीर खुद इसको नही बना पाता हैं। Generally लोग Vitamin-B12 और B-Complex में Confuse हो जाते हैं।

B-Complex में B ग्रुप के सारे विटामिन्स आते हैं जबकि Vitamin-B12 में सिर्फ Cynocobalamin ही आता हैं।

 

  1. शरीर के लिए विटामिन बी12 क्यों जरूरी है?

विटामिन-बी12 हमारे शरीर के न्यूरोलॉजिकल (Neurological )और हेमेटोलॉजिकल (Hematological) कार्यों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। विटामिन-बी12 की कमी(Vitamin-B12 Deficiency) से हमारे शरीर में  लाल रक्त कोशिकाओं (Red Blood Cells) का निर्माण पूरी तरह से नहीं हो पाता है।और RBC की सँख्या कम रह जाती हैं।

 

  1. Vitamin B12 की कमी के लक्षण (Vitamin B12 ki kami ke lakshan) क्या क्या होते हैं ?

विटामिन-बी12 की कमी के मुख्य लक्षण (Vitamin B12 ki kami ke lakshan) हो सकते हैं:-

  • कमजोरी
  • संतुलन खोना
  • हाथ और पैरों की झुनझुनी या सुन्नता
  • खोपड़ी की झुनझुनी
  • ओरल अल्सर
  • विचलित दृष्टि
  • याददाश्त कमजोर होना
  • डिप्रेशन
  • भ्रम

 

  1. विटामिन बी12 की कमी को पूरा करने के लिये क्या खाना चाहिये ?

रेड मीट, मछली, अंडे और दूध जैसे पशु खाद्य उत्पादों का सेवन करना चाहिये।

मोटे अनाज में vitamin B 12 भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। मोटा अनाज आयरन और विटामिन बी12 से भरपूर होते हैं।

  1. विटामिन बी 12 की दैनिक ख़ुराक क्या होती हैं?

NIH के अनुसार किशोरों और वयस्कों के लिए विटामिन बी12 की दैनिक ख़ुराक  2.4mcg  प्रति दिन (μg/दिन) है। गर्भवती महिलाओं के लिए 2.6 mcg /दिन तथा या स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिये 2.8 mcg /दिन होती हैं ।

 

 

निष्कर्ष:- Vitamin-B12 ki kami ke laksan

अगर आपको विटामिन बी12 की कमी के कोई भी लक्षण (Vitamin-B12 ki kami ke lakshan)  महसूस हों तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें और किसी भी लक्षण को हल्के में न लें।

पुरुषों की तुलना में महिलाओं में Vitamin- B12 की जयादा कमी होती हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं। एनीमिया (Anemia) से बचने के लिए आयरन (Iron) और पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिये।

रेड मीट, मछली, अंडे और दूध जैसे पशु खाद्य उत्पादों का सेवन करें। पशुओं से प्राप्त खाद्य पदार्थ विटामिन-बी12 से भरपूर होते हैं और ये आपको इसकी कमी होने से बचाते हैं।

मोटे अनाज में Vitamin B 12 भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। ये आपके शरीर को आवश्यक पोषक तत्वों के साथ पोषण देने में मदद करेंगे। मोटा अनाज आयरन और विटामिन-बी12 से भरपूर होते हैं।

इन सबके अलावा Vitamin-B12 की कमी को पूरा करने के लिये हम Supplements का भी सेवन कर सकते हैं परन्तु  किसी भी सप्लीमेंट का सेवन करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिये ।

शराब का अत्यधिक सेवन या ज्यादा धूम्रपान करने से भी हमारे शरीर में  भी विटामिन बी 12 की कमी हो सकती  है। इसलिए अत्यधिक शराब के सेवन और धूम्रपान की आदत से बचना चाहिये।

धन्यवाद

यह आर्टीकल आपको कैसा लगा? हमें जरूर बतायेगा, हमें आपके विचारों तथा सुझावों का इंतजार रहेगा। आप हमें सुझाव COMMENT BOX के जरिये भेज सकते हैं।

DISCLAMIER: – HEALTHSWIKI.COM केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए सामान्य जानकारी प्रदान करता है। इस वेबसाइट का उद्देश आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और स्वास्थ्य से जुडी जानकारी मुहैया कराना हैं। HEALTHSWIKI.COM साइट में दी गई जानकारी, या अन्य साइटों के लिंक के माध्यम से प्राप्त जानकारी, चिकित्सा या पेशेवर देखभाल के लिए एक विकल्प नहीं है। यदि आपको लगता है कि आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है तो आपको तुरंत अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

Visited 1 times, 1 visit(s) today

2 thoughts on “Vitamin-B12 ki kami ke laksan / विटामिन-बी12 की कमी के लक्षण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com